Varis Kirmani's Photo'

वारिस किरमानी

1927 - 2012 | अलीगढ़, भारत

ग़ज़ल 11

शेर 2

उस से यही कहता हूँ वाजिब एहतिराम-ए-इश्क़ है

अंदर से ये ख़्वाहिश है वो जैसा कहे वैसा करूँ

हम नींद की चादर में लिपटे हुए चलते हैं

इस भेस में अब हम से मिलना हो तो जाना

 

पुस्तकें 15

Afkar-o-Insha

 

1993

अफ़्कार-ओ-इंशा

 

1993

Evaluation of Ghalib's Persian Poetry

 

1972

ग़ालिब की फ़ारसी शायरी

 

2001

घूमती नदी

 

2006

नारसीदा

 

1963

Narseeda

 

1927

Shakh-e-Marjan

 

1988

Urdu Shayari Ke Neem-Wa-Dareeche

 

2005

अलीगढ़

शुमारा नम्बर-007

1961

"अलीगढ़" के और शायर

  • शहरयार शहरयार
  • असअ'द बदायुनी असअ'द बदायुनी
  • ख़लील-उर-रहमान आज़मी ख़लील-उर-रहमान आज़मी
  • आशुफ़्ता चंगेज़ी आशुफ़्ता चंगेज़ी
  • मुईन अहसन जज़्बी मुईन अहसन जज़्बी
  • राहत हसन राहत हसन
  • आल-ए-अहमद सूरूर आल-ए-अहमद सूरूर
  • अख़्तर अंसारी अख़्तर अंसारी
  • वहीद अख़्तर वहीद अख़्तर
  • अहसन मारहरवी अहसन मारहरवी