aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर
Wali Mohammad Wali's Photo'

वली मोहम्मद वली

1667 - 1707 | गुजरात, भारत

दिल्ली में उर्दू शायरी को स्थापित करने वाले क्लासिकी शायर

दिल्ली में उर्दू शायरी को स्थापित करने वाले क्लासिकी शायर

वली मोहम्मद वली के ऑडियो

ग़ज़ल

ख़ूब-रू ख़ूब काम करते हैं

फ़सीह अकमल

जिसे इश्क़ का तीर कारी लगे

फ़सीह अकमल

तुझ लब की सिफ़त ला'ल-ए-बदख़्शाँ सूँ कहूँगा

फ़सीह अकमल

देखना हर सुब्ह तुझ रुख़्सार का

फ़सीह अकमल

याद करना हर घड़ी उस यार का

फ़सीह अकमल

Recitation

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए