दोस्ती शायरी स्टेटस

दोस्ती जब किसी से की जाए

दुश्मनों की भी राय ली जाए

राहत इंदौरी

दोस्ती आम है लेकिन दोस्त

दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से

हफ़ीज़ होशियारपुरी

दोस्ती और किसी ग़रज़ के लिए

वो तिजारत है दोस्ती ही नहीं

इस्माइल मेरठी

दोस्ती की तुम ने दुश्मन से अजब तुम दोस्त हो

मैं तुम्हारी दोस्ती में मेहरबाँ मारा गया

इम्दाद इमाम असर

दोस्ती बंदगी वफ़ा-ओ-ख़ुलूस

हम ये शम्अ' जलाना भूल गए

अंजुम लुधियानवी

दोस्ती छूटे छुड़ाए से किसू के किस तरह

बंद होता ही नहीं रस्ता दिलों की राह का

वलीउल्लाह मुहिब

दोस्ती ख़ून-ए-जिगर चाहती है

काम मुश्किल है तो रस्ता देखो

बाक़ी सिद्दीक़ी

दोस्ती इश्क़ और वफ़ादारी

सख़्त जाँ में भी नर्म गोशे हैं

शीन काफ़ निज़ाम

दोस्ती का दावा क्या आशिक़ी से क्या मतलब

मैं तिरे फ़क़ीरों में मैं तिरे ग़ुलामों में

शोएब बिन अज़ीज़

दोस्ती बद बला है इस में ख़ुदा

किसी दुश्मन को मुब्तला करे

इनामुल्लाह ख़ाँ यक़ीन