Afzal Khan's Photo'

अफ़ज़ल ख़ान

1975 | बहावलपुर, पाकिस्तान

ग़ज़ल 13

शेर 34

तू भी सादा है कभी चाल बदलता ही नहीं

हम भी सादा हैं इसी चाल में जाते हैं

  • शेयर कीजिए

बिछड़ने का इरादा है तो मुझ से मशवरा कर लो

मोहब्बत में कोई भी फ़ैसला ज़ाती नहीं होता

  • शेयर कीजिए

शिकस्त-ए-ज़िंदगी वैसे भी मौत ही है ना

तू सच बता ये मुलाक़ात आख़री है ना

  • शेयर कीजिए

चित्र शायरी 2

तू भी सादा है कभी चाल बदलता ही नहीं हम भी सादा हैं इसी चाल में आ जाते हैं

 

संबंधित शायर

  • सय्यद काशिफ़ रज़ा सय्यद काशिफ़ रज़ा समकालीन
  • अमीर हम्ज़ा साक़िब अमीर हम्ज़ा साक़िब समकालीन
  • अली अकबर नातिक़ अली अकबर नातिक़ समकालीन
  • शहराम सर्मदी शहराम सर्मदी समकालीन
  • अली ज़रयून अली ज़रयून समकालीन
  • मनीश शुक्ला मनीश शुक्ला समकालीन

"बहावलपुर" के और शायर

  • एजाज़ गुल एजाज़ गुल
  • साबिर वसीम साबिर वसीम
  • मोहम्मद हनीफ़ रामे मोहम्मद हनीफ़ रामे
  • कौसर  नियाज़ी कौसर नियाज़ी
  • अब्बास दाना अब्बास दाना
  • अनवार फ़ितरत अनवार फ़ितरत
  • अब्बास रिज़वी अब्बास रिज़वी
  • सरफ़राज़ शाहिद सरफ़राज़ शाहिद
  • अदीब सहारनपुरी अदीब सहारनपुरी
  • हमीद नसीम हमीद नसीम