Manish Shukla's Photo'

मनीश शुक्ला

1971 - | लखनऊ, भारत

ग़ज़ल 26

शेर 29

गुफ़्तुगू का कोई तो मिलता सिरा

फिर उसे नाराज़ कर के देखते

चंद लकीरें तो इस दर्जा गहरी थीं

देखने वाला डूब गया तस्वीरों में

मिरे दिल में कोई मासूम बच्चा

किसी से आज तक रूठा हुआ है

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 1

Khwab Patthar Ho Gaye

 

2012

 

"लखनऊ" के और शायर

  • इमदाद अली बहर इमदाद अली बहर
  • शाहिद कमाल शाहिद कमाल
  • मुनव्वर लखनवी मुनव्वर लखनवी
  • रशीद लखनवी रशीद लखनवी
  • संजय मिश्रा शौक़ संजय मिश्रा शौक़
  • मिर्ज़ा अल्ताफ़ हुसैन आलिम लखनवी मिर्ज़ा अल्ताफ़ हुसैन आलिम लखनवी
  • जावेद लख़नवी जावेद लख़नवी
  • नातिक़ लखनवी नातिक़ लखनवी
  • राकेश राही राकेश राही
  • गीताञ्जलि राय गीताञ्जलि राय

Added to your favorites

Removed from your favorites