वीडियो 17

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

अशोक लाल

baasi rishte

चलो मिल-जुल के हम रिश्तों के बासी-पन का हल सोचें अशोक लाल

lahu rota hai

अशोक लाल

mahakti hui tanhaiyan

एक ख़ुश्बू सी बसी रहती है साँसों में मिरे अशोक लाल

nind

नींद आनी हो तो आ जाती है अशोक लाल

parikrama tawaf

मैं तो जैसे खड़ा हुआ हूँ इक मंज़िल पर अशोक लाल

raghupati raghaw raja ram

अशोक लाल

raushnai

किसी गुमान का साया न शक की परछाईं अशोक लाल

wirasat

जब अँधेरे से मैं डर जाता हूँ अब भी अक्सर अशोक लाल

yatim insaf

हर एक कोने में हर कन में है लहू का सुराग़ अशोक लाल

अपने अशआ'र भूल जाता हूँ

आज-कल अक्सर ऐसा पाता हूँ अशोक लाल

आईने में ख़म आया

दफ़अ'तन यूँही इक दिन अशोक लाल

घर वापसी

टोपी जनेऊ टीका माला छाप तिलक की झूटी हाला अशोक लाल

जाने क्यूँ

जब मैं तुम से मिलता हूँ अशोक लाल

बुनियादें

बिखर गए हैं सितारे बन के अशोक लाल

मेरे एहसास मेरे विसवास

कहाँ से आए ये एहसास मेरे अशोक लाल

सफ़र

ना-उमीदी ये बताती है कि शब की चादर अशोक लाल

ऑडियो 15

रघुपति राघव राजा राम

अपने अशआ'र भूल जाता हूँ

आईने में ख़म आया

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • नसीम देहलवी नसीम देहलवी
  • हकीम आग़ा जान ऐश हकीम आग़ा जान ऐश
  • हीरा लाल फ़लक देहलवी हीरा लाल फ़लक देहलवी
  • जावेद जमील जावेद जमील
  • सुधांशु फ़िरदौस सुधांशु फ़िरदौस
  • मीनू बख़्शी मीनू बख़्शी
  • नज़र बर्नी नज़र बर्नी
  • शकील शम्सी शकील शम्सी
  • बिस्मिल आरिफ़ी बिस्मिल आरिफ़ी
  • ममनून निज़ामुद्दीन ममनून निज़ामुद्दीन