Ashok Sawhny's Photo'

अशोक साहनी

1938 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 8

शेर 2

तिरी सूरत से हसीं और भी मिल जाएँगे

जिस में सीरत भी तिरी हो वो कहाँ से लाऊँ

  • शेयर कीजिए

ज़माने ने लगाईं मुझ पे लाखों बंदिशें लेकिन

सर-ए-महफ़िल मिरी नज़रों ने तुम से गुफ़्तुगू कर ली

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 1

Khusboo-e-Chaman

 

2006

 

"दिल्ली" के और शायर

  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर
  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • राजेन्द्र मनचंदा बानी राजेन्द्र मनचंदा बानी
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • मोमिन ख़ाँ मोमिन मोमिन ख़ाँ मोमिन
  • मिर्ज़ा ग़ालिब मिर्ज़ा ग़ालिब
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र
  • मोहम्मद रफ़ी सौदा मोहम्मद रफ़ी सौदा