Mansoor Usmani's Photo'

मंसूर उस्मानी

1954 | मुरादाबाद, भारत

ग़ज़ल 15

शेर 15

आँखों से मोहब्बत के इशारे निकल आए

बरसात के मौसम में सितारे निकल आए

मुझ से दिल्ली की नहीं दिल की कहानी सुनिए

शहर तो ये भी कई बार लुटा है मुझ में

जहाँ जहाँ कोई उर्दू ज़बान बोलता है

वहीं वहीं मिरा हिन्दोस्तान बोलता है

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 1

कश्मकश

 

2007

 

संबंधित शायर

  • गौहर उस्मानी गौहर उस्मानी पिता

"मुरादाबाद" के और शायर

  • ज़िया ज़मीर ज़िया ज़मीर
  • मनोज अज़हर मनोज अज़हर
  • सग़ीर अालम सग़ीर अालम
  • मुजाहिद फ़राज़ मुजाहिद फ़राज़
  • दुष्यंत कुमार दुष्यंत कुमार
  • क़ाज़ी एहतिशाम बछरौनी क़ाज़ी एहतिशाम बछरौनी
  • आरिफ हसन  ख़ान आरिफ हसन ख़ान
  • नाज़ मुरादाबादी नाज़ मुरादाबादी
  • कैलाश माहिर कैलाश माहिर
  • सुबहान असद सुबहान असद

Added to your favorites

Removed from your favorites