ग़ज़ल 5

 

शेर 20

जब जब तुम को याद करें हम

तब तब बारिश हो जाती है

  • शेयर कीजिए

हवा का रंग नहीं है मगर मिज़ाज तो है

हवा से दोस्ती करना कोई मज़ाक़ नहीं

  • शेयर कीजिए

ज़िंदगी से मिले हुए हो तुम

वो भी मुझ से मज़ाक़ करती है

  • शेयर कीजिए

किसी को याद करने के नहीं मख़्सूस कुछ लम्हे

कोई जब याद जाए तो फिर वो याद आता है

  • शेयर कीजिए

और फिर मोहब्बत में जी के मर के देखा है

लोग सोचते हैं जो हम ने कर के देखा है

  • शेयर कीजिए