Jamal Ehsani's Photo'

जमाल एहसानी

1951 - 1998 | कराची, पाकिस्तान

सबसे महत्वपूर्ण उत्तर-आधुनिक पाकिस्तानी शायरों में से एक, अपने विशीष्ट काव्य अनुभव के लिए विख्यात।

सबसे महत्वपूर्ण उत्तर-आधुनिक पाकिस्तानी शायरों में से एक, अपने विशीष्ट काव्य अनुभव के लिए विख्यात।

जमाल एहसानी

ग़ज़ल 45

शेर 25

याद रखना ही मोहब्बत में नहीं है सब कुछ

भूल जाना भी बड़ी बात हुआ करती है

उस ने बारिश में भी खिड़की खोल के देखा नहीं

भीगने वालों को कल क्या क्या परेशानी हुई

क़रार दिल को सदा जिस के नाम से आया

वो आया भी तो किसी और काम से आया

तमाम रात नहाया था शहर बारिश में

वो रंग उतर ही गए जो उतरने वाले थे

'जमाल' हर शहर से है प्यारा वो शहर मुझ को

जहाँ से देखा था पहली बार आसमान मैं ने

पुस्तकें 2

Kulliyat-e-Jamal

 

2008

Rat Ke Jage Hue

 

1986

 

चित्र शायरी 12

उसी मक़ाम पे कल मुझ को देख कर तन्हा बहुत उदास हुए फूल बेचने वाले

ख़ुद जिसे मेहनत मशक़्क़त से बनाता हूँ 'जमाल' छोड़ देता हूँ वो रस्ता आम हो जाने के बा'द

वीडियो 10

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

जमाल एहसानी

जमाल एहसानी

जमाल एहसानी

Jamal Ehsani reciting at a mushaira

जमाल एहसानी

जमाल एहसानी

एक फ़क़ीर चला जाता है पक्की सड़क पर गाँव की

जमाल एहसानी

कूज़ा-ए-दुनिया है अपने चाक से बिछड़ा हुआ

जमाल एहसानी

किसी भी दश्त किसी भी नगर चला जाता

जमाल एहसानी

वो लोग मेरे बहुत प्यार करने वाले थे

जमाल एहसानी

संबंधित शायर

  • ज़ीशान साहिल ज़ीशान साहिल समकालीन

"कराची" के और शायर

  • जौन एलिया जौन एलिया
  • ज़ीशान साहिल ज़ीशान साहिल
  • सलीम अहमद सलीम अहमद
  • महशर बदायुनी महशर बदायुनी
  • सलीम कौसर सलीम कौसर
  • मोहसिन एहसान मोहसिन एहसान
  • दिलावर फ़िगार दिलावर फ़िगार
  • अज़रा अब्बास अज़रा अब्बास
  • उबैदुल्लाह अलीम उबैदुल्लाह अलीम
  • ज़ेहरा निगाह ज़ेहरा निगाह