Tripurari's Photo'

त्रिपुरारि

1986 | मुंबई, भारत

त्रिपुरारि

ग़ज़ल 14

नज़्म 5

 

अशआर 22

हवा तू ही उसे ईद-मुबारक कहियो

और कहियो कि कोई याद किया करता है

  • शेयर कीजिए

कितनी दिलकश हैं ये बारिश की फुवारें लेकिन

ऐसी बारिश में मिरी जान भी जा सकती है

  • शेयर कीजिए

तुम जिसे चाँद कहते हो वो अस्ल में

आसमाँ के बदन पर कोई घाव है

  • शेयर कीजिए

मोहब्बत में शिकायत कर रहा हूँ

शिकायत में मोहब्बत कर रहा हूँ

जिसे तुम ढूँडती रहती हो मुझ में

वो लड़का जाने कब का मर चुका है

  • शेयर कीजिए

चित्र शायरी 4

 

"मुंबई" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए