Unwan Chishti's Photo'

उनवान चिश्ती

1935 - 2004 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 14

शेर 9

वो हादसे भी दहर में हम पर गुज़र गए

जीने की आरज़ू में कई बार मर गए

  • शेयर कीजिए

इश्क़ फिर इश्क़ है आशुफ़्ता-सरी माँगे है

होश के दौर में भी जामा-दरी माँगे है

आप से चूक हो गई शायद

आप और मुझ पे मेहरबाँ क्या ख़ूब

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 17

Akhbaron Ke Beech

 

1998

Aroozi Aur Fanni Masail

 

1985

Azadi Ke Baad Dehli Mein Urdu Ghazal

 

1989

चाँद चकोर और चाँदनी

 

1998

Harf-e-Barhana

 

1989

Islah Nama

Volume-001

1997

Makateeb-e-Ahsan

 

1983

मकातीब-ए-अहसन

खण्ड-001

1977

Manviyat Ki Talash

 

1983

नीम बाज़

 

1968

ऑडियो 6

इश्क़ फिर इश्क़ है आशुफ़्ता-सरी माँगे है

किसी के फ़ैज़-ए-क़ुर्ब से हयात अब सँवर गई

जब ज़ुल्फ़ शरीर हो गई है

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • अशहर हाशमी अशहर हाशमी
  • अबरार किरतपुरी अबरार किरतपुरी
  • शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी
  • ज़फ़र अनवर ज़फ़र अनवर
  • मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़ मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़
  • सरफ़राज़ ख़ालिद सरफ़राज़ ख़ालिद
  • अज़हर गौरी अज़हर गौरी
  • आज़िम कोहली आज़िम कोहली
  • मोहम्मद अली तिशना मोहम्मद अली तिशना
  • बिलक़ीस ज़फ़ीरुल हसन बिलक़ीस ज़फ़ीरुल हसन