Waheed Allahabadi's Photo'

वहीद इलाहाबादी

1829 - 1892 | इलाहाबाद, भारत

ग़ज़ल 3

 

शेर 2

अब भी जाते तो रह जाती हमारी ज़िंदगी

बाद मरने के अगर ख़त का जवाब आया तो क्या

even now if it did come my life would then sustain

if after I am gone the letter comes would be in vain

  • शेयर कीजिए

कुछ कह के उस ने फिर मुझे दीवाना कर दिया

इतनी सी बात थी जिसे अफ़्साना कर दिया

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 1

Intikhab-e-Waheed

 

1939

 

संबंधित शायर

  • अकबर इलाहाबादी अकबर इलाहाबादी शिष्य

"इलाहाबाद" के और शायर

  • आनंद नारायण मुल्ला आनंद नारायण मुल्ला
  • अफ़ज़ल इलाहाबादी अफ़ज़ल इलाहाबादी
  • ख़्वाजा जावेद अख़्तर ख़्वाजा जावेद अख़्तर
  • ज़फ़र अंसारी ज़फ़र ज़फ़र अंसारी ज़फ़र
  • अब्दुल हमीद अब्दुल हमीद
  • आज़म करेवी आज़म करेवी
  • सुहैल अहमद ज़ैदी सुहैल अहमद ज़ैदी
  • एहतराम इस्लाम एहतराम इस्लाम
  • फ़र्रुख़ जाफ़री फ़र्रुख़ जाफ़री
  • राज़ इलाहाबादी राज़ इलाहाबादी