Aal-e-Ahmad Suroor's Photo'

आल-ए-अहमद सूरूर

1911 - 2002 | अलीगढ़, भारत

आधुनिक उर्दू आलोचना के संस्थापकों में शामिल हैं।

आधुनिक उर्दू आलोचना के संस्थापकों में शामिल हैं।

ग़ज़ल 31

नज़्म 1

 

शेर 19

हम जिस के हो गए वो हमारा हो सका

यूँ भी हुआ हिसाब बराबर कभी कभी

साहिल के सुकूँ से किसे इंकार है लेकिन

तूफ़ान से लड़ने में मज़ा और ही कुछ है

  • शेयर कीजिए

तुम्हारी मस्लहत अच्छी कि अपना ये जुनूँ बेहतर

सँभल कर गिरने वालो हम तो गिर गिर कर सँभले हैं

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 534

Aal Ahmad Suroor

Kaleedi Khutba: Danishwar

2001

आले अहमद सुरूर

दानिशवर, नक़्क़ाद व शाइर

1997

Aal-e-Ahmad Suroor: Shakhsiyat Aur Fan

 

1997

आसार-ए-आले अहमद सुरूर

 

2004

Adab Aur Nazariya

 

1954

अफ़्कार के दिए

 

2000

अख़्तर अंसारी

 

1962

Aks-e-Ghalib

Ghalib Ke Urdu Khaton Ka Intikhab

1973

Ale Ahamad Suroor : Naqd-o-Nazar

 

2012

आल अहमद सुरूर की अदबी ख़िदमात

 

2010

ऑडियो 11

आज से पहले तिरे मस्तों की ये ख़्वारी न थी

कुछ लोग तग़य्युर से अभी काँप रहे हैं

ख़ुदा-परस्त मिले और न बुत-परस्त मिले

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • नून मीम राशिद नून मीम राशिद समकालीन

"अलीगढ़" के और शायर

  • नसीम सिद्दीक़ी नसीम सिद्दीक़ी
  • मुईन अहसन जज़्बी मुईन अहसन जज़्बी
  • साजिदा ज़ैदी साजिदा ज़ैदी
  • वारिस किरमानी वारिस किरमानी
  • ज़े ख़े शीन ज़े ख़े शीन
  • सय्यद अमीन अशरफ़ सय्यद अमीन अशरफ़
  • मंज़ूर हाशमी मंज़ूर हाशमी
  • शहरयार शहरयार
  • रईसुदीन रईस रईसुदीन रईस
  • महताब हैदर नक़वी महताब हैदर नक़वी

Added to your favorites

Removed from your favorites