noImage

चंद्र प्रकाश जौहर बिजनौरी

1923 - 1995 | लाहौर, पाकिस्तान

पारंपरिक ढंग के शायर, मुशायरों में लोकप्रिय रहे

पारंपरिक ढंग के शायर, मुशायरों में लोकप्रिय रहे

ग़ज़ल 3

 

शेर 1

हाए कितना लतीफ़ है वो ग़म

जिस ने बख़्शा है ज़िंदगी का शुऊर

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 1

Auraq-e-Gul

 

1986

 

संबंधित शायर

  • साहिर लुधियानवी साहिर लुधियानवी समकालीन
  • इज़हार रामपुरी इज़हार रामपुरी गुरु

"लाहौर" के और शायर

  • ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र इक़बाल
  • अल्लामा इक़बाल अल्लामा इक़बाल
  • मुनीर नियाज़ी मुनीर नियाज़ी
  • अब्बास ताबिश अब्बास ताबिश
  • हफ़ीज़ जालंधरी हफ़ीज़ जालंधरी
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी
  • हबीब जालिब हबीब जालिब
  • अमजद इस्लाम अमजद अमजद इस्लाम अमजद
  • अख़्तर शीरानी अख़्तर शीरानी
  • वसी शाह वसी शाह