शेर 1

मुंतज़िर हूँ तिरी आवाज़ से तस्वीर तलक

एक वक़्फ़ा ही तो दरकार था मिलने के लिए

  • शेयर कीजिए
 

चित्र शायरी 1

मुंतज़िर हूँ तिरी आवाज़ से तस्वीर तलक एक वक़्फ़ा ही तो दरकार था मिलने के लिए

 

"कराची" के और शायर

  • जौन एलिया जौन एलिया
  • ज़ीशान साहिल ज़ीशान साहिल
  • परवीन शाकिर परवीन शाकिर
  • सज्जाद बाक़र रिज़वी सज्जाद बाक़र रिज़वी
  • दिलावर फ़िगार दिलावर फ़िगार
  • क़मर जलालवी क़मर जलालवी
  • अज़रा अब्बास अज़रा अब्बास
  • सलीम कौसर सलीम कौसर
  • उबैदुल्लाह अलीम उबैदुल्लाह अलीम
  • सीमाब अकबराबादी सीमाब अकबराबादी