Krishna Mohan's Photo'

कृष्ण मोहन

1922 - 2004 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 13

नज़्म 16

शेर 8

कृष्ण 'मोहन' ये भी है कैसा अकेला-पन कि लोग

मौत से डरते हैं मैं तो ज़िंदगी से डर गया

ज़िंदगी के आख़िरी लम्हे ख़ुशी से भर गया

एक दिन इतना हँसा वो हँसते हँसते मर गया

जब भी की तहरीर अपनी दास्ताँ

तेरी ही तस्वीर हो कर रह गई

पुस्तकें 27

Aahang-e-Watan

 

 

Bankpan Ehsas Ka

 

1987

बेरागी भोंरा

 

1972

दिल-ए-नादाँ

 

1962

दुनिया मिरे आगे

 

1989

ग़ज़ाल

 

1968

Gyan Marg Ki Nazmein

 

1974

ज्ञान मार्ग की नज़्में

ग़ज़लें और क़तऐ

1977

Harjai Teri Khushboo

 

 

Intikhab

 

1977

ऑडियो 4

ज़िंदगी के आख़िरी लम्हे ख़ुशी से भर गया

दिल की रखना देख भाल ऐ दिल-बर-ए-रंगीं-जमाल

नाला-ए-सुब्ह के बग़ैर गिर्या-ए-शाम के बग़ैर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • राशिद जमाल फ़ारूक़ी राशिद जमाल फ़ारूक़ी
  • नियाज़ हैदर नियाज़ हैदर
  • नश्तर अमरोहवी नश्तर अमरोहवी
  • नज़्मी सिकंदराबादी नज़्मी सिकंदराबादी
  • मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर
  • अबीर अबुज़री अबीर अबुज़री
  • महेश चंद्र नक़्श महेश चंद्र नक़्श
  • अज़ीज़ वारसी अज़ीज़ वारसी
  • रिफ़अत सरोश रिफ़अत सरोश
  • कमाल अहमद सिद्दीक़ी कमाल अहमद सिद्दीक़ी