Zafar Tabish's Photo'

ज़फ़र ताबिश

1957 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 6

शेर 8

कहो तुम भी कुछ हम बोलें

आओ ख़ामोशियों के लब खोलें

मंज़र से ला-मंज़र तक

आँखें ख़ाली ख़ाली हैं

क्या जाने क्यूँ जलती है

सदियों से बिचारी धूप

"दिल्ली" के और शायर

  • आज़िम कोहली आज़िम कोहली
  • अज़हर गौरी अज़हर गौरी
  • अशहर हाशमी अशहर हाशमी
  • सरफ़राज़ ख़ालिद सरफ़राज़ ख़ालिद
  • शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी
  • ज़फ़र अनवर ज़फ़र अनवर
  • मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़ मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़
  • मोहम्मद अली तिशना मोहम्मद अली तिशना
  • शकील जमाली शकील जमाली
  • फ़रियाद आज़र फ़रियाद आज़र