परेशानी पर शेर

मैं ने जब ख़ुद की तरफ़ ग़ौर से देखा तो खुला

मुझ को इक मेरे सिवा कोई परेशानी नहीं

अभिषेक शुक्ला
बोलिए