Sayad Mohammad Abdul Ghafoor Shahbaz's Photo'

सययद मोहम्म्द अब्दुल ग़फ़ूर शहबाज़

1859 - 1908 | कोलकाता, भारत

अनुवादक,शायर,कुल्लियात-ए-नज़ीर के संपादक और शोधकर्ता

अनुवादक,शायर,कुल्लियात-ए-नज़ीर के संपादक और शोधकर्ता

ग़ज़ल 5

 

शेर 7

ख़ुदा ने मुँह में ज़बान दी है तो शुक्र ये है कि मुँह से बोलो

कि कुछ दिनों में मुँह रहेगा मुँह में चलती ज़बाँ रहेगी

शब-ए-फ़िराक़ का छाया हुआ है रोब ऐसा

बुला बुला के थके हम क़ज़ा नहीं आई

हम रो रो अश्क बहाते हैं वो तूफ़ाँ बैठे उठाते हैं

यूँ हँस हँस कर फ़रमाते हैं क्यूँ मर्द का नाम डुबोता है

अंजाम ख़ुशी का दुनिया में सच कहते हो ग़म होता है

साबित है गुल और शबनम से जो हँसता है वो रोता है

'शहबाज़' में ऐब ही नहीं कुल

एक आध कोई हुनर भी होगा

रुबाई 15

पुस्तकें 12

Abdul Ghafoor Shahbaz

Hayat Aur Adbi Khidmat

1988

Baqiyat-e-Shahbaz

 

1982

Hindustanii Adab Ke Memar: Abdul Ghafoor Shahbaz

 

2011

ख़यालात-ए-आज़ाद

 

1887

ख़यालात-ए-शहबाज़

 

1916

Maktoobat-e-Shahbaz

 

1989

मवाइज़-ए-हसना

 

1914

Nama-e-Shauq

Shahbaz Ke Khutut Biwi Ke Naam

1980

रुबाइयात-ए-शहबाज़

 

1891

तफ़रीहुल क़ुलूब

 

1942

"कोलकाता" के और शायर

  • वहशत रज़ा अली कलकत्वी वहशत रज़ा अली कलकत्वी
  • एज़ाज़ अफ़ज़ल एज़ाज़ अफ़ज़ल
  • हुरमतुल इकराम हुरमतुल इकराम
  • ऐन रशीद ऐन रशीद
  • फ़राग़ रोहवी फ़राग़ रोहवी
  • आरज़ू सहारनपुरी आरज़ू सहारनपुरी
  • जुर्म मुहम्मदाबादी जुर्म मुहम्मदाबादी
  • जाफ़र साहनी जाफ़र साहनी
  • हशमत कमाल पाशा हशमत कमाल पाशा
  • मासूम शर्क़ी मासूम शर्क़ी