Joginder Paul's Photo'

जोगिन्दर पॉल

1925 - 2016 | दिल्ली, भारत

ख्यातिप्राप्त कथाकार, प्रवास के अनुभवों की कहानियाँ लिखने के लिए जाने जाते हैं, अपनी लघुकथाओं के लिए भी प्रसिद्ध।

ख्यातिप्राप्त कथाकार, प्रवास के अनुभवों की कहानियाँ लिखने के लिए जाने जाते हैं, अपनी लघुकथाओं के लिए भी प्रसिद्ध।

21
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

जागीरदार

यह कहानी एक ऐसे ख़ुदग़रज़ बाप के किरदार को पेश करती है, जो रूपयों की ख़ातिर अपनी ही बेटी से धंधा कराने लगता है। उस मकान में वह नया-नया किरायेदार था। एक दिन एक बच्ची एक चिट्ठी लेकर उसके पास आई। उसमें कुछ रुपयों की दरख़्वास्त की गई थी। चिट्ठी भेजने वाले ने ख़ुद को जागीरदार बताया गया था। चिट्ठी में जितने रूपये माँगे गए थे उसके आधे देकर उस किरायेदार ने बच्ची को रवाना कर दिया। इसके बाद भी बच्ची कई बार उसके पास चिट्ठी लेकर आई और उसने हर बार उसे कम रूपये दिये। एक दिन चिट्ठी भेजने वाला ख़ुद उसके पास आया और कहने लगा कि वह जितने रूपये चिट्ठी में लिखे उतने ही दिया करे, क्योंकि अब उसकी बेटी भी तो बड़ी हो गई है।