Ameer Qazalbash's Photo'

अमीर क़ज़लबाश

1943 - 2003 | दिल्ली, भारत

लोकप्रिय शायर और फि़ल्म गीतकार/प्रेम रोग और राम तेरी गंगा मैली के गीतों के लिए मशहूर

लोकप्रिय शायर और फि़ल्म गीतकार/प्रेम रोग और राम तेरी गंगा मैली के गीतों के लिए मशहूर

ग़ज़ल 43

शेर 33

मिरे जुनूँ का नतीजा ज़रूर निकलेगा

इसी सियाह समुंदर से नूर निकलेगा

लोग जिस हाल में मरने की दुआ करते हैं

मैं ने उस हाल में जीने की क़सम खाई है

उसे बेचैन कर जाऊँगा मैं भी

ख़मोशी से गुज़र जाऊँगा मैं भी

ई-पुस्तक 5

Bazgasht

 

1974

इंकार

 

1976

Manzar Nama

 

1996

Rajaz

 

1985

Shikayatein Meri

 

1979

 

चित्र शायरी 4

 

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

ऑडियो 20

अपने हमराह ख़ुद चला करना

आँखें खुली हुई हैं तो मंज़र भी आएगा

इक परिंदा अभी उड़ान में है

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • नसीर तुराबी नसीर तुराबी समकालीन
  • इफ़्तिख़ार आरिफ़ इफ़्तिख़ार आरिफ़ समकालीन
  • अनवर शऊर अनवर शऊर समकालीन

"दिल्ली" के और शायर

  • अशरफ़ अली फ़ुग़ाँ अशरफ़ अली फ़ुग़ाँ
  • मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा
  • शुजा ख़ावर शुजा ख़ावर
  • फ़रहत एहसास फ़रहत एहसास
  • राजेन्द्र मनचंदा बानी राजेन्द्र मनचंदा बानी
  • अमीक़ हनफ़ी अमीक़ हनफ़ी
  • बलराज कोमल बलराज कोमल
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • मीर मेहदी मजरूह मीर मेहदी मजरूह

Added to your favorites

Removed from your favorites