ग़ज़ल 30

शेर 2

मुख़ालिफ़ों ने ख़बर जब कोई उड़ा दी है

तो दोस्तों ने उसे और भी हवा दी है

  • शेयर कीजिए

किया था ज़ुल्म तो गुलचीं ने तुम पे अहल-ए-चमन

ये तुम ने आग गुलिस्ताँ को क्यूँ लगा दी है

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 2

Tatheer

 

1991

Shumara Number-007

1979

 

"कराची" के और शायर

  • सलीम अहमद सलीम अहमद
  • सज्जाद बाक़र रिज़वी सज्जाद बाक़र रिज़वी
  • महशर बदायुनी महशर बदायुनी
  • शबनम शकील शबनम शकील
  • क़मर जलालवी क़मर जलालवी
  • अज़रा अब्बास अज़रा अब्बास
  • उबैदुल्लाह अलीम उबैदुल्लाह अलीम
  • सीमाब अकबराबादी सीमाब अकबराबादी
  • जमाल एहसानी जमाल एहसानी
  • मुस्तफ़ा ज़ैदी मुस्तफ़ा ज़ैदी