Dagh Dehlvi's Photo'

दाग़ देहलवी

1831 - 1905 | दिल्ली, भारत

उर्दू के सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल। शायरी में चुस्ती , शोख़ी और मुहावरों के इस्तेमाल के लिए प्रसिद्ध

उर्दू के सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल। शायरी में चुस्ती , शोख़ी और मुहावरों के इस्तेमाल के लिए प्रसिद्ध

हज़ारों काम मोहब्बत में हैं मज़े के 'दाग़'

दिल परेशान हुआ जाता है

अभी हमारी मोहब्बत किसी को क्या मालूम

यूँ भी हज़ारों लाखों में तुम इंतिख़ाब हो

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे

वक़्त दो मुझ पर कठिन गुज़रे हैं सारी उम्र में

हज़ारों काम मोहब्बत में हैं मज़े के 'दाग़'

Added to your favorites

Removed from your favorites