noImage

क़ासिम इमाम

मुंबई, भारत

शेर 1

हम अपनी ज़िंदा लाशों की बुझाएँ तिश्नगी कैसे

यहाँ पानी पे उभरी लाश के टुकड़े भी आते हैं

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 2

 

"मुंबई" के और शायर

  • ज़ाकिर ख़ान ज़ाकिर ज़ाकिर ख़ान ज़ाकिर
  • क़मर सिद्दीक़ी क़मर सिद्दीक़ी
  • हयात अमरोहवी हयात अमरोहवी
  • अख़्तर आज़ाद अख़्तर आज़ाद
  • शाहिदा लतीफ़ शाहिदा लतीफ़
  • अज़हर हाश्मी अज़हर हाश्मी
  • हसन कमाल हसन कमाल
  • ज़किया शैख़ मीना ज़किया शैख़ मीना
  • फ़ारूक़ रहमान फ़ारूक़ रहमान
  • मजीद मैमन मजीद मैमन