Sabir Waseem's Photo'

साबिर वसीम

कराची, पाकिस्तान

ग़ज़ल 24

शेर 3

ये उम्र भर का सफ़र है इसी सहारे पर

कि वो खड़ा है अभी दूसरे किनारे पर

ख़्वाब तुम्हारे आते हैं

नींद उड़ा ले जाते हैं

पहला पत्थर याद हमेशा रहता है

दुख से दिल आबाद हमेशा रहता है

 

ई-पुस्तक 1

Darya

 

1999

 

"कराची" के और शायर

  • अंजुम सलीमी अंजुम सलीमी
  • ग़ुलाम हुसैन साजिद ग़ुलाम हुसैन साजिद
  • अमजद इस्लाम अमजद अमजद इस्लाम अमजद
  • मोहसिन एहसान मोहसिन एहसान
  • पीरज़ादा क़ासीम पीरज़ादा क़ासीम
  • साबिर ज़फ़र साबिर ज़फ़र
  • अख़्तर होशियारपुरी अख़्तर होशियारपुरी
  • सीमाब अकबराबादी सीमाब अकबराबादी
  • ऐतबार साजिद ऐतबार साजिद
  • नासिर शहज़ाद नासिर शहज़ाद