Saghar Nizami's Photo'

साग़र निज़ामी

1905 - 1984 | दिल्ली, भारत

प्रमुख लोकप्रिय शायर, देश भक्ति की नज़मों के लिए मशहूर / पदम भूषन से सम्मानित

प्रमुख लोकप्रिय शायर, देश भक्ति की नज़मों के लिए मशहूर / पदम भूषन से सम्मानित

ग़ज़ल 15

नज़्म 3

 

शेर 16

सज्दे मिरी जबीं के नहीं इस क़दर हक़ीर

कुछ तो समझ रहा हूँ तिरे आस्ताँ को मैं

  • शेयर कीजिए

आँख तुम्हारी मस्त भी है और मस्ती का पैमाना भी

एक छलकते साग़र में मय भी है मय-ख़ाना भी

वो मिरी ख़ाक-नशीनी के मज़े क्या जाने

जो मिरी तरह तिरी राह में बर्बाद नहीं

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 71

Anar Kali

Manzum Darama

1998

अनार कली

 

 

Anarkali

 

 

Bada-e-Mashriq

Volume-001, Part-001

1935

Bada-e-Mashriq

 

1935

Chappu

Risala Asia Ke Das Sal Ke Muntakhab Afsane

 

Josh Banam Saghar

 

1991

Kahkashan

 

1934

Kashmeer Ka Mustaqbil

 

 

Kulliyat-e-Saghar Nizami

Volume-003

1999

"दिल्ली" के और शायर

  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • फ़रहत एहसास फ़रहत एहसास
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • राजेन्द्र मनचंदा बानी राजेन्द्र मनचंदा बानी
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक