noImage

मुस्तफ़ा ख़ाँ शेफ़्ता

1806 - 1869 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 26

शेर 14

इज़हार-ए-इश्क़ उस से करना था 'शेफ़्ता'

ये क्या किया कि दोस्त को दुश्मन बना दिया

  • शेयर कीजिए

हम तालिब-ए-शोहरत हैं हमें नंग से क्या काम

बदनाम अगर होंगे तो क्या नाम होगा

  • शेयर कीजिए

जिस लब के ग़ैर बोसे लें उस लब से 'शेफ़्ता'

कम्बख़्त गालियाँ भी नहीं मेरे वास्ते

those lips that others get to kiss alas on them I see

not even curses or abuse are now assigned for me

those lips that others get to kiss alas on them I see

not even curses or abuse are now assigned for me

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 12

Deewan-e-Shefta

 

 

Deewan-e-Shefta

 

1954

Deewan-e-Shefta

 

 

दीवान-ए-शेफ़ता

 

1985

गुलशन-ए-बेख़ार

 

1874

Gulshan-e-Bekhar

 

1998

Gulshan-e-Bekhar

 

1982

हज़रत शेफ़्ता के मुख़्तसर हालात

 

1915

Intikhab-e-Kalam Mustafa Khan Shefta

 

1959

कुल्लियात-ए-शेफ़्ता

 

 

ऑडियो 9

इधर माइल कहाँ वो मह-जबीं है

इश्क़ की मेरे जो शोहरत हो गई

कहूँ मैं क्या कि क्या दर्द-ए-निहाँ है

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • मिर्ज़ा ग़ालिब मिर्ज़ा ग़ालिब समकालीन
  • शेख़ इब्राहीम ज़ौक़ शेख़ इब्राहीम ज़ौक़ समकालीन
  • तअशशुक़ लखनवी तअशशुक़ लखनवी समकालीन
  • शाद लखनवी शाद लखनवी समकालीन
  • लाला माधव राम जौहर लाला माधव राम जौहर समकालीन
  • मिर्ज़ा सलामत अली दबीर मिर्ज़ा सलामत अली दबीर समकालीन
  • मीर अनीस मीर अनीस समकालीन
  • मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा समकालीन
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र समकालीन
  • मीर तस्कीन देहलवी मीर तस्कीन देहलवी समकालीन

"दिल्ली" के और शायर

  • अशरफ़ अली फ़ुग़ाँ अशरफ़ अली फ़ुग़ाँ
  • मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा मुफ़्ती सदरुद्दीन आज़ुर्दा
  • ज़ैनुल आब्दीन ख़ाँ आरिफ़ ज़ैनुल आब्दीन ख़ाँ आरिफ़
  • ज़हीर देहलवी ज़हीर देहलवी
  • मीर मेहदी मजरूह मीर मेहदी मजरूह
  • ऐश देहलवी ऐश देहलवी
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र
  • अब्दुल रहमान एहसान देहलवी अब्दुल रहमान एहसान देहलवी
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी