ADVERTISEMENT

जिस्म पर शेर

तुझ से जुदा हुए तो ये हो जाएँगे जुदा

बाक़ी कहाँ रहेंगे ये साए तिरे बग़ैर

अदील ज़ैदी
ADVERTISEMENT