Ahsan Marahravi's Photo'

अहसन मारहरवी

1876 - 1940 | अलीगढ़, भारत

प्रमुखतम उत्तर- क्लासिक शायरों में शामिल

प्रमुखतम उत्तर- क्लासिक शायरों में शामिल

ग़ज़ल 20

शेर 23

मुझे ख़बर नहीं ग़म क्या है और ख़ुशी क्या है

ये ज़िंदगी की है सूरत तो ज़िंदगी क्या है

किसी माशूक़ का आशिक़ से ख़फ़ा हो जाना

रूह का जिस्म से गोया है जुदा हो जाना

हमारा इंतिख़ाब अच्छा नहीं दिल तो फिर तू ही

ख़याल-ए-यार से बेहतर कोई मेहमान पैदा कर

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 17

Aghlat-e-Naguzir 1329 Hijri

Ma'aruuf Bihi Zamima-e-Aghlaat-e-Ahsan

1911

Ahsan-ul-Kalam

 

1965

Fahrist-e-Makhtootat

Maulana Azad Library Aligarh Muslim University

1983

Insha-e-Dagh

Mirza Dagh Dehlvi Ke Khaton Ka Majmua

1941

Jalwa-e-Ahsan

 

 

Jalwa-e-Daagh

 

1902

Karnama-e-Gham

 

 

Makateeb-ul-Ghalib

 

 

Maulana Ahsan Marehravi : Aasar-o-Afkar

 

1994

Shumara Number-001

1910

ऑडियो 6

ऐ दिल न सुन अफ़्साना किसी शोख़ हसीं का

चाहिए इश्क़ में इस तरह फ़ना हो जाना

जब तक अपने दिल में उन का ग़म रहा

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • दाग़ देहलवी दाग़ देहलवी गुरु

"अलीगढ़" के और शायर

  • हकीम आग़ा जान ऐश हकीम आग़ा जान ऐश
  • आर पी शोख़ आर पी शोख़
  • मीना नक़वी मीना नक़वी
  • ज्योती आज़ाद खतरी ज्योती आज़ाद खतरी
  • हीरा लाल फ़लक देहलवी हीरा लाल फ़लक देहलवी
  • मारूफ़ देहलवी मारूफ़ देहलवी
  • मुश्ताक़ नक़वी मुश्ताक़ नक़वी
  • माहिर अब्दुल हई माहिर अब्दुल हई
  • सौरभ शेखर सौरभ शेखर
  • रख़शां हाशमी रख़शां हाशमी