Arif Abdul Mateen's Photo'

आरिफ़ अब्दुल मतीन

1923 - 2001 | लाहौर, पाकिस्तान

उर्दू और पंजाबी के शायर व लेखक, प्रसिद्ध साहित्यिक पत्रिका ‘अदब-ए-लतीफ़’ और ‘औराक़’ के सम्पादकीय विभाग से सम्बद्ध रहे

उर्दू और पंजाबी के शायर व लेखक, प्रसिद्ध साहित्यिक पत्रिका ‘अदब-ए-लतीफ़’ और ‘औराक़’ के सम्पादकीय विभाग से सम्बद्ध रहे

ग़ज़ल 18

शेर 8

वफ़ा निगाह की तालिब है इम्तिहाँ की नहीं

वो मेरी रूह में झाँके आज़माए मुझे

कभी ख़याल के रिश्तों को भी टटोल के देख

मैं तुझ से दूर सही तुझ से कुछ जुदा भी नहीं

  • शेयर कीजिए

चाँद मेरे घर में उतरा था कहीं डूबा था

मिरे सूरज अभी आना तिरा अच्छा था

तितलियाँ रंगों का महशर हैं कभी सोचा था

उन को छूने पर खुला वो राज़ जो खुलता था!

था ए'तिमाद-ए-हुस्न से तू इस क़दर तही

आईना देखने का तुझे हौसला था

पुस्तकें 20

Auraq,Lahore

Salnama: Volume-003

1968

Dhoop Ki Chadar

 

1989

Harf-e-Dua

 

1988

Shumara Number-003

1948

Adab-e-Lateef,Lahore

Shumara Number-005

1947

Adab-e-Lateef,Lahore

Shumara Number-004,005

1948

Adab-e-Lateef,Lahore

Shumara Number-006,001,002

1948

Adab-e-Lateef,Lahore

Shumara Number-002,003

1947

Adab-e-Lateef,Lahore

Shumara Number-001-006

1947

Shumara Number-002

1968

"लाहौर" के और शायर

  • फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़
  • अल्लामा इक़बाल अल्लामा इक़बाल
  • शहज़ाद अहमद शहज़ाद अहमद
  • मुनीर नियाज़ी मुनीर नियाज़ी
  • हफ़ीज़ जालंधरी हफ़ीज़ जालंधरी
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी
  • हबीब जालिब हबीब जालिब
  • वसी शाह वसी शाह
  • सूफ़ी तबस्सुम सूफ़ी तबस्सुम
  • नबील अहमद नबील नबील अहमद नबील