Jatinder Vir Yakhmi jayaveer's Photo'

जतीन्द्र वीर यख़मी ’जयवीर

1946 - - | मुंबई, भारत

जतीन्द्र वीर यख़मी ’जयवीर

ग़ज़ल 10

अशआर 6

ख़ूब गहरी जो लगी चोट तो हम ने जाना

वक़्त लगता है किसी दर्द को जाते जाते

दुख कटे ज़हमत कटे कट जाए बद-हाली सभी

वक़्त काटे ना कटे तो क्या करें किस से कहें

मेरे ख़्वाबों के झरोकों को सजाते रहिए

सही वस्ल मगर याद तो आते रहिए

  • शेयर कीजिए

लाख चाहा कि हो पहचान कोई अपनी भी

काश हम आप के ही नाम से जाने जाते

वो नहीं आज-कल ख़फ़ा हम से

कोई निकला है रास्ता शायद

पुस्तकें 2

 

"मुंबई" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए