Kunwar Mahendra Singh Bedi Sahar's Photo'

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

1909 - 1992 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 53

शेर 14

मुस्कुराना कभी रास आया

हर हँसी एक वारदात बनी

  • शेयर कीजिए

आएँ हैं समझाने लोग

हैं कितने दीवाने लोग

people come to counsel me

how silly, crazy can they be

  • शेयर कीजिए

उठा सुराही ये शीशा वो जाम ले साक़ी

फिर इस के बाद ख़ुदा का भी नाम ले साक़ी

  • शेयर कीजिए

मरना तो लाज़िम है इक दिन जी भर के अब जी तो लूँ

मरने से पहले मर जाना मेरे बस की बात नहीं

शोख़ी शबाब हुस्न तबस्सुम हया के साथ

दिल ले लिया है आप ने किस किस अदा के साथ

क़िस्सा 12

पुस्तकें 14

Intikhab Kalam-e-Bedi

 

2016

कलाम कुँवर महिंदर सिंह बेदी सहर

 

1994

कुल्लियात-ए-सहर

 

1992

Paigham-e-Mohabbat

 

 

Tuloo-e-Sahar

 

1962

यादों का जश्न

 

1986

Yadon Ka Jashn

 

1983

Rang

Kunwar Mahendra Singh Bedi Sahar Number

2011

Rang

Shumara Number-000

 

Rooh-e-Adab

Shumara Number-004

1985

चित्र शायरी 2

मुझे भूल जाने वाले मिरे दिल की कुछ ख़बर भी मिरी आँख पर न जाना ये तो ख़ुश्क भी है तर भी ये क़दम रुके रुके से ये झुका झुका सा सर भी यहीं उन का नक़्श-ए-पा है यही उन की रहगुज़र भी फ़लक-आश्ना सही हम मगर एहतियात लाज़िम कि क़फ़स में ले न जाए ये मज़ाक़-ए-बाल-ओ-पर भी बड़े शौक़ से हुए थे यूँ हरम को हम रवाना ये ख़बर न थी कि रह में है तुम्हारा संग-ए-दर भी हो दराज़ उम्र यारब मिरे शैख़-ओ-बरहमन की कहीं ख़त्म हो न जाए ये जहान-ए-ख़ैर-ओ-शर भी न बदल रही हैं घड़ियाँ न सितारे डूबते हैं कहीं थक के सो गई है शब-ए-हिज्र की सहर भी

 

वीडियो 7

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

At a mushaira

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

Emirates Mushaira

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

Phir chale baad-e-bahaari phir chale baad-e-muraad

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

Rashke shadd arshe

कँवर महेंद्र सिंह बेदी सहर

ऑडियो 5

इन शोख़ हसीनों की निराली है अदा भी

ख़िज़ाँ में भी बहार-ए-जावेदाँ मालूम होती है

तक़दीर के लिखे से सिवा बन गए हैं हम

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • फ़ना निज़ामी कानपुरी फ़ना निज़ामी कानपुरी समकालीन
  • ख़ुमार बाराबंकवी ख़ुमार बाराबंकवी समकालीन

"दिल्ली" के और शायर

  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • फ़रहत एहसास फ़रहत एहसास
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • राजेन्द्र मनचंदा बानी राजेन्द्र मनचंदा बानी
  • अनीसुर्रहमान अनीसुर्रहमान
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • ताबाँ अब्दुल हई ताबाँ अब्दुल हई
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र