Nasir Zaidi's Photo'

नासिर ज़ैदी

1943 - 2020 | लाहौर, पाकिस्तान

नासिर ज़ैदी

ग़ज़ल 22

नज़्म 1

 

अशआर 7

मैं बे-हुनर था मगर सोहबत-ए-हुनर में रहा

शुऊ'र बख़्शा हमा-रंग महफ़िलों ने मुझे

  • शेयर कीजिए

देखा उसे तो आँख से आँसू निकल पड़े

दरिया अगरचे ख़ुश्क था पानी तहों में था

  • शेयर कीजिए

रात सुनसान है गली ख़ामोश

फिर रहा है इक अजनबी ख़ामोश

  • शेयर कीजिए

हाँ ये ख़ता हुई थी कि हम उठ के चल दिए

तुम ने भी तो पलट के पुकारा नहीं हमें

  • शेयर कीजिए

वो भी क्या दिन थे कि जब इश्क़ किया करते थे

हम जिसे चाहते थे चूम लिया करते थे

  • शेयर कीजिए

क़ितआ 1

 

पुस्तकें 17

"लाहौर" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए