Qayyum Nazar's Photo'

क़य्यूम नज़र

1914 - 1989 | लाहौर, पाकिस्तान

क़य्यूम नज़र

ग़ज़ल 14

नज़्म 10

अशआर 4

पूछो तो एक एक है तन्हा सुलग रहा

देखो तो शहर शहर है मेला लगा हुआ

याद आया भी तो यूँ अहद-ए-वफ़ा

आह की बे-असरी याद आई

  • शेयर कीजिए

नक़्श-ए-कफ़-ए-पा ने गुल खिलाए

वीराँ कहाँ अब ये रास्ता है

तेरी निगह से तुझ को ख़बर है कि क्या हुआ

दिल ज़िंदगी से बार-ए-दिगर आश्ना हुआ

पुस्तकें 23

संबंधित शायर

"लाहौर" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए