Asima Tahir's Photo'

पाकिस्तान की युवा कवयित्रियों में एक महत्वपूर्ण नाम

पाकिस्तान की युवा कवयित्रियों में एक महत्वपूर्ण नाम

ग़ज़ल 14

शेर 12

मिरे वजूद के अंदर है इक क़दीम मकान

जहाँ से मैं ये उदासी उधार लेती हूँ

हम ने जब हाल-ए-दिल उन से अपना कहा

वो भी क़िस्सा किसी का सुनाने लगे

ख़्वाब का इंतिज़ार ख़त्म हुआ

आँख को नींद से जगाते हैं

नहीं वो इतना भी पागल नहीं था

जो मर जाता मिरी वाबस्तगी में

चुभ रही है अँधेरी रात मुझे

हर सितारा बुझाए बैठी हूँ

"लाहौर" के और शायर

  • अल्लामा इक़बाल अल्लामा इक़बाल
  • मुनीर नियाज़ी मुनीर नियाज़ी
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी
  • फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़
  • हफ़ीज़ जालंधरी हफ़ीज़ जालंधरी
  • क़तील शिफ़ाई क़तील शिफ़ाई
  • अहमद नदीम क़ासमी अहमद नदीम क़ासमी
  • अब्बास ताबिश अब्बास ताबिश
  • नबील अहमद नबील नबील अहमद नबील
  • साग़र सिद्दीक़ी साग़र सिद्दीक़ी