Mela Ram Wafa's Photo'

मेला राम वफ़ा

1895 - 1980 | पंजाब, पाकिस्तान

पंजाब के राज कवि,पत्रकार,शायर एवं कहानीकार

पंजाब के राज कवि,पत्रकार,शायर एवं कहानीकार

ग़ज़ल 26

शेर 8

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर

इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

  • शेयर कीजिए

गो क़यामत से पेशतर हुई

तुम आए तो क्या सहर हुई

कहना ही मिरा क्या है कि मैं कुछ नहीं कहता

ये भी तुम्हें धोका है कि मैं कुछ नहीं कहता

इतनी तौहीन कर मेरी बला-नोशी की

साक़िया मुझ को दे माप के पैमाने से

तुम भी करोगे जब्र शब रोज़ इस क़दर

हम भी करेंगे सब्र मगर इख़्तियार तक

पुस्तकें 7

Hadiya-e-Aqeedat

 

 

Hadiya-e-Aqeedat

 

 

Muntakhab Majmua-e-Kalam

 

 

Sada Bahar Phool

 

 

Sang-e-Meel

 

1959

Soz-e-Watan

 

1941

 

चित्र शायरी 5

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

इक बार उस ने मुझ को देखा था मुस्कुरा कर इतनी तो है हक़ीक़त बाक़ी कहानियाँ हैं

 

"पंजाब" के और शायर

  • फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़
  • अल्लामा इक़बाल अल्लामा इक़बाल
  • शहज़ाद अहमद शहज़ाद अहमद
  • मुनीर नियाज़ी मुनीर नियाज़ी
  • हफ़ीज़ जालंधरी हफ़ीज़ जालंधरी
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी
  • ग़ुलाम हुसैन साजिद ग़ुलाम हुसैन साजिद
  • हबीब जालिब हबीब जालिब
  • वसी शाह वसी शाह
  • सूफ़ी तबस्सुम सूफ़ी तबस्सुम