Munshi Naubat Rai Nazar Lakhnavi's Photo'

मुंशी नौबत राय नज़र लखनवी

1864 - 1923 | लखनऊ, भारत

शायर, ख़दंग-ए-नज़र, ज़माना कानपुर और अदीब जैसी पत्रिकाओं के संपादक

शायर, ख़दंग-ए-नज़र, ज़माना कानपुर और अदीब जैसी पत्रिकाओं के संपादक

मुंशी नौबत राय नज़र लखनवी

ग़ज़ल 25

शेर 12

गुफ़्तुगू की तुम से आदत हो गई है वर्ना में

जानता हूँ बात करती है कहीं तस्वीर भी

  • शेयर कीजिए

देखना है किस में अच्छी शक्ल आती है नज़र

उस ने रक्खा है मिरे दल के बराबर आईना

तुम ऐसे बे-ख़बर भी शाज़ होंगे इस ज़माने में

कि दिल में रह के अंदाज़ा नहीं है दिल की हालत का

फ़ना होने में सोज़-ए-शम'अ की मिन्नत-कशी कैसी

जले जो आग में अपनी उसे परवाना कहते हैं

फ़िक्र-ए-मआल थी ग़म-ए-रोज़गार था

हम थे जहाँ में और तिरा इंतिज़ार था

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 51

Anwar-e-Nazar

Kulliyat-e-Naubat Rai Nazar

1988

अनवार-ए-नज़र

 

1965

Intekhab-e-Deewan

 

 

शाम-ए-जवानी

भाग-002

1938

Sham-e-Jawani

Part-002

1920

यादगार-ए-नज़र

 

1967

अदीब

Shumara Number-001

1910

अदीब

Shumara Number-001

1910

अदीब

Shumara Number-004

1910

अदीब

Shumara Number-002

1910

"लखनऊ" के और शायर

  • मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी
  • मीर हसन मीर हसन
  • हैदर अली आतिश हैदर अली आतिश
  • इमदाद अली बहर इमदाद अली बहर
  • इरफ़ान सिद्दीक़ी इरफ़ान सिद्दीक़ी
  • मीर अनीस मीर अनीस
  • वलीउल्लाह मुहिब वलीउल्लाह मुहिब
  • असरार-उल-हक़ मजाज़ असरार-उल-हक़ मजाज़
  • सिराज लखनवी सिराज लखनवी
  • अरशद अली ख़ान क़लक़ अरशद अली ख़ान क़लक़