Chakbast Brij Narayan's Photo'

चकबस्त ब्रिज नारायण

1882 - 1926 | लखनऊ, भारत

प्रमुख पूर्वाधुनिक शायर/रामायण पर अपनी नज़्म के लिए विख्यात/मशहूर शेर ‘जि़ंदगी क्या है अनासिर में ज़हूर-ए-तरतीब......’ के रचयिता

प्रमुख पूर्वाधुनिक शायर/रामायण पर अपनी नज़्म के लिए विख्यात/मशहूर शेर ‘जि़ंदगी क्या है अनासिर में ज़हूर-ए-तरतीब......’ के रचयिता

चकबस्त ब्रिज नारायण

ग़ज़ल 13

शेर 20

ज़िंदगी क्या है अनासिर में ज़ुहूर-ए-तरतीब

मौत क्या है इन्हीं अज्ज़ा का परेशाँ होना

अगर दर्द-ए-मोहब्बत से इंसाँ आश्ना होता

कुछ मरने का ग़म होता जीने का मज़ा होता

अदब ता'लीम का जौहर है ज़ेवर है जवानी का

वही शागिर्द हैं जो ख़िदमत-ए-उस्ताद करते हैं

वतन की ख़ाक से मर कर भी हम को उन्स बाक़ी है

मज़ा दामान-ए-मादर का है इस मिट्टी के दामन में

गुनह-गारों में शामिल हैं गुनाहों से नहीं वाक़िफ़

सज़ा को जानते हैं हम ख़ुदा जाने ख़ता क्या है

पुस्तकें 24

Chakbast Aur Baqiyat-e-Chakbast

 

1979

Chakbast Ka Ek Drama: Kamla

 

1972

Gokhle Ki Taqreerein

 

1917

Gokhle Ki Taqrirein

 

1917

Intikhab-e-Atish-o-Ghalib

 

1980

Intikhab-e-Manzoomat-e-Birj Narayan Chakbast

 

1989

Intikhab-e-Mazameen-e-Chakbast

 

1984

Kamla

 

1915

Mazameen Chakbast

 

1936

Mazameen-e-Chakbast

 

1937

संबंधित शायर

  • शाद अज़ीमाबादी शाद अज़ीमाबादी समकालीन

"लखनऊ" के और शायर

  • मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी
  • मीर हसन मीर हसन
  • हैदर अली आतिश हैदर अली आतिश
  • इमदाद अली बहर इमदाद अली बहर
  • जुरअत क़लंदर बख़्श जुरअत क़लंदर बख़्श
  • अज़ीज़ बानो दाराब  वफ़ा अज़ीज़ बानो दाराब वफ़ा
  • इरफ़ान सिद्दीक़ी इरफ़ान सिद्दीक़ी
  • अरशद अली ख़ान क़लक़ अरशद अली ख़ान क़लक़
  • वलीउल्लाह मुहिब वलीउल्लाह मुहिब
  • यगाना चंगेज़ी यगाना चंगेज़ी