ग़ज़ल 1

 

शेर 2

क़ब्रों में नहीं हम को किताबों में उतारो

हम लोग मोहब्बत की कहानी में मरें हैं

  • शेयर कीजिए

बहती हुई आँखों की रवानी में मरे हैं

कुछ ख़्वाब मिरे ऐन-जवानी में मरे हैं

  • शेयर कीजिए
 

"लाहौर" के और शायर

  • नबील अहमद नबील नबील अहमद नबील
  • नियाज़ हुसैन लखवेरा नियाज़ हुसैन लखवेरा
  • शहनाज़ परवीन सहर शहनाज़ परवीन सहर
  • ज़ाहिद डार ज़ाहिद डार
  • शाहिदा मजीद शाहिदा मजीद
  • नईम जर्रार अहमद नईम जर्रार अहमद
  • बशीर मुंज़िर बशीर मुंज़िर
  • तसद्द्क़ हुसैन ख़ालिद तसद्द्क़ हुसैन ख़ालिद
  • सरवर अरमान सरवर अरमान
  • फ़ैसल नदीम फ़ैसल फ़ैसल नदीम फ़ैसल