Faheem Shanas Kazmi's Photo'

फ़हीम शनास काज़मी

1965 | कराची, पाकिस्तान

ग़ज़ल 14

नज़्म 24

शेर 19

तुम्हारी याद निकलती नहीं मिरे दिल से

नशा छलकता नहीं है शराब से बाहर

जिन को छू कर कितने 'ज़ैदी' अपनी जान गँवा बैठे

मेरे अहद की शहनाज़ों के जिस्म बड़े ज़हरीले थे

बदलते वक़्त ने बदले मिज़ाज भी कैसे

तिरी अदा भी गई मेरा बाँकपन भी गया

पुस्तकें 2

ख़्वाब से बाहर

 

2009

राहदारी में गूंजती नज़्म

 

2013

 

"कराची" के और शायर

  • साबिर वसीम साबिर वसीम
  • इशरत रूमानी इशरत रूमानी
  • सिराज मुनीर सिराज मुनीर
  • कौसर  नियाज़ी कौसर नियाज़ी
  • फ़ाज़िल जमीली फ़ाज़िल जमीली
  • अजमल सिराज अजमल सिराज
  • निसार तुराबी निसार तुराबी
  • अकबर मासूम अकबर मासूम
  • सऊद उस्मानी सऊद उस्मानी
  • ज़ुल्फ़िक़ार आदिल ज़ुल्फ़िक़ार आदिल