Yazdani Jalandhari's Photo'

यज़दानी जालंधरी

1915 - 1990 | लाहौर, पाकिस्तान

ग़ज़ल 11

शेर 5

इज्ज़ के साथ चले आए हैं हम 'यज़्दानी'

कोई और उन को मना लेने का ढब याद नहीं

  • शेयर कीजिए

मिला है तपता सहरा देखने को

चले थे घर से दरिया देखने को

  • शेयर कीजिए

शम्अ होगी सुब्ह तक बाक़ी परवाने की ख़ाक

अहल-ए-महफ़िल की ज़बाँ पर दास्ताँ रह जाएगी

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 3

देहाती समाज

 

1942

क़ैदी के ख़ुतूत और दीगर अफ़साने

 

1945

स्वामी

 

 

 

चित्र शायरी 1

मिला है तपता सहरा देखने को चले थे घर से दरिया देखने को

 

संबंधित शायर

  • कैफ़ी आज़मी कैफ़ी आज़मी समकालीन
  • साहिर लुधियानवी साहिर लुधियानवी समकालीन
  • ताजवर नजीबाबादी ताजवर नजीबाबादी गुरु
  • एहसान दानिश एहसान दानिश समकालीन
  • जाँ निसार अख़्तर जाँ निसार अख़्तर समकालीन

"लाहौर" के और शायर

  • नुज़हत अब्बासी नुज़हत अब्बासी
  • औरंग ज़ेब औरंग ज़ेब
  • अख़्तर सईद अख़्तर सईद
  • सबीला इनाम सिद्दीक़ी सबीला इनाम सिद्दीक़ी
  • ज़ाहिद डार ज़ाहिद डार
  • अज़हर नक़वी अज़हर नक़वी
  • इसहाक़ अतहर सिद्दीक़ी इसहाक़ अतहर सिद्दीक़ी
  • इंजिला हमेश इंजिला हमेश
  • रज़िया सुबहान रज़िया सुबहान
  • सय्यद मुनीर सय्यद मुनीर