Ram Awtar Gupta Muztar's Photo'

राम अवतार गुप्ता मुज़्तर

1936 | नजीबाबाद, भारत

ग़ज़ल 15

शेर 15

दुनिया तेरे नाम से मुझ को पहचाने

इश्क़ में ऐसा रुस्वा कर दे या-अल्लाह

  • शेयर कीजिए

आए मेरे होंटों तक जो पैमाना नहीं आता

मिरी ख़ुद्दारियों को हाथ फैलाना नहीं आता

  • शेयर कीजिए

नवाज़ा है मुझे पत्थर से जिस ने

उसे मैं फूल दे कर देखता हूँ

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 1

सीपियों में समंदर

 

2009

 

"नजीबाबाद" के और शायर

  • मरग़ूब अली मरग़ूब अली
 

Added to your favorites

Removed from your favorites