Ram Awtar Gupta Muztar's Photo'

राम अवतार गुप्ता मुज़्तर

1936 | नजीबाबाद, भारत

ग़ज़ल 15

शेर 15

लम्हा लम्हा बिखर रहा हूँ मैं

अपनी तकमील कर रहा हूँ मैं

  • शेयर कीजिए

आए मेरे होंटों तक जो पैमाना नहीं आता

मिरी ख़ुद्दारियों को हाथ फैलाना नहीं आता

  • शेयर कीजिए

नवाज़ा है मुझे पत्थर से जिस ने

उसे मैं फूल दे कर देखता हूँ

  • शेयर कीजिए

ई-पुस्तक 1

सीपियों में समंदर

 

2009

 

"नजीबाबाद" के और शायर

  • अलीना इतरत अलीना इतरत
  • फ़ौज़िया रबाब फ़ौज़िया रबाब
  • लियाक़त जाफ़री लियाक़त जाफ़री
  • सीमा शर्मा मेरठी सीमा शर्मा मेरठी
  • फ़हीम जोगापुरी फ़हीम जोगापुरी
  • हामिद मुख़्तार हामिद हामिद मुख़्तार हामिद
  • मोहम्मद अज़हर शम्स मोहम्मद अज़हर शम्स
  • मधुवन ऋषि राज मधुवन ऋषि राज
  • अज़ीज़ुर्रहमान शहीद फ़तेहपुरी अज़ीज़ुर्रहमान शहीद फ़तेहपुरी
  • उर्मिलामाधव उर्मिलामाधव