noImage

मोहम्मद यूसुफ़ अली ख़ाँ नाज़िम रामपुरी

रामपुर, भारत

ग़ज़ल 13

शेर 2

बोस-ओ-कनार के लिए ये सब फ़रेब हैं

इज़हार-ए-पाक-बाज़ी ज़ौक़-ए-नज़र ग़लत

  • शेयर कीजिए

मुट्ठी में क्या धरी थी कि चुपके से सौंप दी

जान-ए-अज़ीज़ पेशकश-ए-नामा-बर ग़लत

  • शेयर कीजिए
 

"रामपुर" के और शायर

  • निज़ाम रामपुरी निज़ाम रामपुरी
  • अज़हर इनायती अज़हर इनायती
  • मुनव्वर ख़ान ग़ाफ़िल मुनव्वर ख़ान ग़ाफ़िल
  • शाहिद इश्क़ी शाहिद इश्क़ी
  • अब्दुल वहाब सुख़न अब्दुल वहाब सुख़न
  • सय्यद यूसुफ़ अली खाँ नाज़िम सय्यद यूसुफ़ अली खाँ नाज़िम
  • जावेद नसीमी जावेद नसीमी
  • फ़रहान सालिम फ़रहान सालिम
  • रसा रामपुरी रसा रामपुरी
  • जावेद कमाल रामपुरी जावेद कमाल रामपुरी