कामुक

मैं ने जो कचकचा कर कल उन की रान काटी

तो उन ने किस मज़े से मेरी ज़बान काटी

इंशा अल्लाह ख़ान इंशा

संबंधित विषय